कोना एक रुबाई का

this blog is about poetry... ghazals nazms, and nagmaat

82 Posts

965 comments

swapnilktiwari


Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.

Sort by:

आवारगी

Posted On: 24 Jul, 2010  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

Others लोकल टिकेट में

24 Comments

ये चाँद तारे , हसीं नज़ारे, जो तुम न लायी कहाँ से आये

Posted On: 15 Jul, 2010  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

में

30 Comments

आल ईज वेल की बात करता एक किरदार

Posted On: 11 Jul, 2010  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

में

17 Comments

हिन्द-युग्म: ये नए दौर के उजाले हैं

Posted On: 10 Jul, 2010  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Others में

6 Comments

राज …नाम तो सुना होगा … !

Posted On: 6 Jul, 2010  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

में

23 Comments

तन्हाई को टा टा कर

Posted On: 5 Jul, 2010  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

Others में

21 Comments

आमद

Posted On: 2 Jul, 2010  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

Others में

20 Comments

कुछ बे-बहर से चाँद

Posted On: 29 Jun, 2010  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

Others में

16 Comments

एक ग़ज़ल जंगल में

Posted On: 21 Jun, 2010  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

Others में

26 Comments

Page 1 of 912345»...Last »

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा: swapnilktiwari swapnilktiwari

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

@ pankaj ...

badi tedhi baat pooch li mitra... hehehe... khair let me give it a try..dekhta hun bata pata hun ke nahi ...
ग़ज़ल का मीटर गिनते वक़्त ... बड़ी मात्राओं को २ अंक देते हैं ...और छोटी को १ अंक देते हैं ....लेकिन ए ऐ ओ औ इनका वजन उच्चारण के हिसाब से घटता बढ़ता है .. और कभी १ अंक देते हैं कभी दो अंक देते हैं .. :) ..हाँ दो छोटी मात्राओं को आपस में जोड़ कर एक बड़ी मात्र माना जा सकता है ..लेकिन एक बड़ी मात्र को तोड़ कर दो छोटी मात्र नहीं मना जा सकता ..जिन अक्षरों पर मात्र नहीं होती उन्हें भी एक अंक देते हैं ... और भी ढेर सारे नियम हैं पर इस ग़ज़ल के लिए इतना काफी है ..

बस अब देखो ..
ये जोड़ी इक राजा रानी लगती है
२ २ ,२ २,२ २,२ २, २ २,२
सीधी सादी एक कहानी लगती है
२ २,२ , २ २,२ २,२ २,२

अब एक और चीज़

२ २ ये ग़ज़ल का रुक्न है ... नोर्मल तरीके से कहूँ तो ... २२ इस ग़ज़ल का monomer..ye polymerise हो कर ग़ज़ल की बहर/ मीटर हो गया है ...

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:




latest from jagran